वेब डिजाइनिंग क्या है ? वेबसाइट डिजाइनिंग कैसे करते हैं Web Page Design

What is Web Designing Course in Hindi आज हम वेब डिजाइनिंग के बारे में समझने का प्रयास करेंगे ? वेब डिजाइनिंग क्या है और वेब डिजाइनिंग का काम क्या है – web designing kya hai– What is Web Designing in Hindi. वेब डिजाइनिंग का मतलब वेब पेजेज या वेबसाइट के पेज की डिजाइनिंग से है| सबसे पहले बात करेंगे कि वेब पेज Web Page In Hindi क्या होता है ? Web Designing Courses In Hindi वेब डिजाइनिंग के कोर्स कौन-कौन से हैं

वेब पेज क्या होता है – What is Web page in Hindi 

आज का युग वैश्वीकरण  (Globalization) का युग है ऐसे में अगर हम कोई व्यवसाय स्टार्ट करते हैं तो हमे विश्व स्तर पे उसके प्रचार और प्रसार की ज़रूरत पड़ती है | अपने बिज़नस के प्रचार के लिए आप वेबसाइट बना सकते हैं | अगर आप वेबसाइट क्या होती है ये जानना चाहते हैं यहाँ क्लिक करे Website Banana kaise sikhe-वेबसाइट बनाना कैसे सीखे |   

कोई भी वेबसाइट वेब पेजेज का कलेक्शन होता है | हम अपनी या अपने बिज़नस की इनफार्मेशन को पेजेज के फॉर्म में रखते हैं | हर वेब पेज एक डॉक्यूमेंट होता है | ऐसे कई डॉक्यूमेंट को मिलकर एक वेबसाइट बनायीं जाती है | इन पेजेज को आपस में जोड़ दिया जाता है ताकि आप आसानी से एक पेज से दूसरे पेज पर पहुच सके और हर पेज को देख सके.

इन वेब पेजेज को वेब सर्वर पर रखा जाता है और फिर उन्हें URL के द्वारा एक्सेस किया जाता है | किसी भी वेब सर्वर पर रखे हुए पेजेज को या किसी वेबसाइट को क्लाइंट अपने कंप्यूटर के  अपने ब्राउज़र (जैसे कि  इन्टरनेट एक्स्प्लोरर , गूगल क्रोम , firefox) पे देखता है |

किसी वेबसाइट के वेब पेजेज को हम दो भागों में बाँट सकते हैं

  1. STATIC WEB PAGE
  2. DYNAMIC WEB PAGE

अब बात करते हैं की वेब डिजाइनिंग क्या है – web designing kya hai- What is Web Designing in Hindi

वेब डिजाइनिंग क्या है – Web Designing kya hai

आपका पेज आपके क्लाइंट के ब्राउज़र पे कैसा दिखाई देगा ये आपके पेज की डिजाइनिंग पर निर्भर करता है | वेब डिजाइनिंग का मलतब ये होता है कि आप अपने वेब पेज को कैसा दिखाना चाहते हैं | अपनी इनफार्मेशन को अपने पेज पर किस तरह से व्यवस्थित करे कि आपका पेज आपके कस्टमर को आकर्षक लगे | Web designing वेबसाइट डेवलपमेंट का सबसे अहम् हिस्सा होता है | क्योकि यही हिस्सा आपके कस्टमर को दीखता है या इसी के द्वारा आपका ग्राहक आपके बिज़नस को समझने का प्रयास करता है | आपकी वेबसाइट की प्रस्तुति या Presentation जितनी बेहतर होगी आपके साईट पर उतने ही आगंतुक आयेंगे और आपकी साईट के द्वारा आपका बिज़नस भी बढेगा

अब बात करते हैं कि वेबसाइट डिजाइनिंग या वेब डिजाईन web designing कैसे करते हैं 

वेब डिजाईन Web designing कैसे करते हैं ? वेब डिजाइनर बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

वेब डिजाइनिंग करने के कई तरीके होते है जिनमे से कुछ के बारे में हम यहाँ आपको बताने जा रहे हैं- वेब पेजेज बनाना या Web Page Designing बहुत ही इंटरेस्टिंग काम है |

1.  PHOTOSHOP के द्वारा वेब डिजाइनिंग – कुछ वेबसाइट कंपनी वेब पेज को बनाने से पहले उसका लेआउट पहले फोटोशोप जैसे सॉफ्टवेयर में तैयार करती हैं |PHOTOSHOP एक सॉफ्टवेयर होता है जिसके द्वारा हम कोई भी चित्र , ग्राफ़िक्स तैयार कर सकते हैं और अपने फोटो को भी एडिट कर सकते हैं | वेब डिज़ाइनर पहले अपने वेबसाइट का लेआउट फोटोशोप में तैयार करता हैं | अप्रूव होने के बाद उसी डिजाईन को HTML/CSS/JAVA SCRIPT के द्वारा वेब पेज में बना दिया जाता है| चलिए संक्षिप्त में जान लेते हैं कि CSS क्या है | CSS एक कंप्यूटर की भाषा है जिस के थ्रू हम किसी भी एचटीएमएल पेज को आकर्षक और सुंदर बना सकते हैं| इसका पूरा नाम होता है Cascading Style Sheet . इसे हमेशा HTML के साथ ही प्रयोग किया जाता है|

2. COREL DRAW के द्वारा वेब डिजाइनिंग-  Corel Draw भी फोटोशोप की तरह एक ग्राफ़िक्स डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर है | इसमें में भी वही प्रक्रिया अपनाई जाती है जो फोटो शॉप डिजाइनिंग में |

3. सीधे HTML/CSS/JS का प्रयोग करके –  अगर आपको CSS /HTML/JS आती है तो आप सीधे सीधे अपना वेब पेज बना सकते हैं | मगर ज्यादा बेहतर होता है कि पहले आप अपनी वेबसाइट का एक ब्लू प्रिंट किसी डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर में तैयार कर ही ले| Material CSS और Bootstrap CSS रेस्पॉन्सिव डिजाइन बनाने में काम आते हैं

एक वेब डिजाइनर को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए- वेब डिजाइनर का क्या काम है?

वेबसाइट को डिजाईन करते वक़्त या वेब डिजाइनिंग करते वक़्त कुछ बाते आप को ध्यान देनी चाहिए

  1. कॉपीराइट का उलंघन न हो
  2. वेब पेज सिंपल और आकर्षक बने
  3. कंटेंट या डाटा की पोजीशन सही जगह हो
  4. इमेज या विडियो अच्छी क्वालिटी के हो और मौलिक हो
  5. जिस उद्देश्य के लिए आप वेबसाइट बना रहे हो आपके पेज उस उद्देश्य को पूरा करते हो
  6. पेज का साइज़ बहुत बड़ा न हो वर्ना लोडिंग टाइम ज्यादा लगेगा
  7. Web Page का Logo अपने उचित स्थान पर हो
  8. Colors का सही Comonation हो
  9. हर पेज आपस में जुड़े हो अर्थात Hyperlink का प्रयोग किया गया हो

वेब डिजाइनिंग के कोर्स कौन-कौन से हैं Web designing courses in hindi

वेब डिजाइनिंग कोर्सेज में 3 महीने के शॉर्ट टर्म कोर्स से लेकर के 1 साल तक का डिप्लोमा किया जा सकता है| जिसमें आप टेंप्लेट डिजाइनिंग, लोगो डिजाइनिंग Template Designing , लोगो डिजाइनिंग Logo Designing , 2D एनीमेशन 3D एनीमेशन, फोटोशॉप डिजाइनिंग, बैनर डिजाइनिंग, आइकन डिजाइनिंग जैसी चीजों को सीख सकते हैं| किसी भी वेबसाइट के पेज में इमेजेस कहां लगाई जाएंगी और कंटेंट कहां प्लेस किया जाएगा यही एक वेब डिजाइनर का रोल होता है|

वेब डिजाइनिंग में करियर ऑप्शन क्या-क्या है Career in Web Designing

आप किसी भी मल्टीनेशनल कंपनी में वेब डिजाइनर के पोस्ट पर काम कर सकते हैं, आप मीडियम साइज की कंपनी में भी वेब डिजाइनर के पोस्ट पर काम कर सकते हैं| आप खुद की वेब डिजाइनिंग की कंपनी खोल सकते हैं| फ्रीलांसर के तौर पर आप कई कंपनी में अपनी सेवाएं दे सकते हैं| आप अपनी खुद की वेब डिजाइनिंग ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट खोल सकते हैं और छात्रों को Web Designing Courses सिखा सकते हैं| web designing courses in hindi

एक वेब डिजाइनर को कितनी सैलरी मिल जाती है – वेब डिजाइनर की सैलरी कितनी है?

अगर आप किसी कंपनी में फुल टाइम एम्पलाई के तौर पर काम करना चाहते हैं तो आपको वेब डिजाइनर के प्रोफाइल पर 10 हजार से 15 हजार रुपए की नौकरी आसानी से मिल जाती है| अगर आप फ्रीलांसर के तौर पर काम करना शुरू कर देते हैं तो आप की इनकम और ज्यादा हो सकती है| आप अपने टेंपलेट बनाकर के ऑनलाइन शॉपिंग के माध्यम से अपने Web Template को अच्छे दामों में बेच भी सकते हैं| कई सारी कंपनी एक्सपीरियंस वेब डिजाइनर को 50000 से 60,000 रुपए तक की सैलरी बड़े आराम से दे देती हैं|

अगर आपने Angular डिजाइन और React JS की डिजाइन पर भी काम कर लिया| तो यह सैलरी और ज्यादा हो सकती है


तो दोस्तों ये थी जानकारी कि वेब डिजाइनिंग क्या है – web designing kya hai- What is Web Designing in Hindi, web designing courses in hindi| उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट ज़रूर पसंद आई होगी

Leave a Comment