Categories: करियर

भारतीय सेना में कमांडो कैसे बने – Para SF Commando Indian Army

भारतीय सेना में कमांडो बनने के का सपना हर युवा का होता है| सवाल यह है कि क्या भारतीय सेना में डायरेक्टली कमांडो बना जा सकता है| जी नहीं भारतीय सेना में सीधे कमांडो की भर्ती नहीं होती है| भारतीय सैनिकों तथा भारतीय सेना के अधिकारियों के द्वारा हर वर्ष कमांडो के पद भरे जाते हैं। भारतीय पैरा स्पेशल फोर्स कमांडो Indian Army Para SF Commando कैसे बनते हैं इसकी पूरी जानकारी हम इस पोस्ट में देने वाले हैं| Indian Army Para SF Commando एक विशेष फौजी होता है जो अत्यधिक कठिनाईयों का सामना करने की क्षमता रखता है और संघर्ष के समय प्राकृतिक आपदाओं के नीचे काम करता है।

भारतीय सेना में कमांडो अलावा किन किन फोर्सेज में कमांडो होते हैं

भारतीय थल सेना, भारतीय जल सेना अर्थात इंडियन नेवी एवं एयर फोर्स में अलग-अलग कमांडो होते हैं| इनके अतिरिक्त सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो अलग होते हैं, बीएसएफ के क्रीक कोको डायल कमांडो , एनएसजी कमांडो, एसपीजी कमांडो और अन्य अर्धसैनिक बलों में भी कमांडो तैनात किए जाते हैं|

भारतीय नौसैनिक मरीन कमांडो कह जाते हैं तथा इंडियनवायु सैनिक गरुड़ कमांडो कहे जाते हैं| किसी भी सैन्य बल में कमांडो एक विशेष दस्ता होता है जो उच्च तकनीकी, अदम्य साहस, वीरता से भरा हुआ होता है| चाहे वह भारतीय सेना हो भारत के अर्धसैनिक या फिर केंद्रीय पुलिस सेवा | इस पोस्ट में भारतीय सेना में कमांडो बनने की तैयारी के बारे में बताने वाले हैं

सेना भर्ती प्रक्रिया: भारतीय सेना में पैरा कमांडो कैसे बने

कमांडो बनने के लिए सबसे पहले आपको भारतीय सेना में भर्ती होना होगा। सेना भर्ती की आवश्यकता के अनुसार, आपको भर्ती अधिसूचना में दिए गए योग्यता मानदंडों को पूरा करना होगा। भारतीय सेना में कमांडो बनने के लिए आपको शारीरिक रूप से फिट रहना बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए सेना भर्ती के लिए तैयारी करें।

सैन्य अकादमी का प्रवेश: भारतीय सेना में कमांडोNDA/CDS

कमांडो बनने के लिए आपको राष्ट्रीय डिफेंस एकेडमी NDA या भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में प्रवेश करना होगा। आईएमए भारतीय सेना की एक प्रतिष्ठित संस्थान है जो युवा उम्मीदवारों को कमीशंड अधिकारी बनाता है। भारतीय सेना में अधिकारी बनना चाहते हैं तो यह पोस्ट पढ़ें आपको आईएमए के प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल करनी होगी ताकि आप इस संस्थान में अध्ययन कर सकें। इसके लिए आपको एसएसबी के इंटरव्यू को भी क्वालीफाई करना होगा| एनडीए या सीडीएस की लिखित परीक्षा के उपरांत आपको पांच दिवसीय SSB सर्विस सिलेक्शन बोर्ड के इंटरव्यू में भाग लेना होगा| SSB इंटरव्यू को पास करने के बाद आपको मेडिकल परीक्षा के प्रक्रिया से गुजरना होगा और फिर ऑल इंडिया स्तर पर आपकी मेरिट बनेगी फिर आपको OTA/IMA/NDA मैं प्रवेश मिलेगा| कुछ युवाओं को टेक्निकल एंट्री स्कीम की तहत भी भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर भर्ती किया जाता है| TES टेक्निकल एंट्री स्कीम में सिर्फ एसएसबी देना होता है लिखित परीक्षा नहीं होती है

स्पेशलिस्ट कोर्स का पूरा करना:

NDA या IMA या फिर OTA मैं अपना कोर्स समाप्त करने के बाद आपको भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है और आप एक कमीशंड अधिकारी बन जाते है| इसके बाद शुरू होता है सेना में कमांडो बनने का सफर| भारतीय थल सेना में Para (Special Force Commando) कमांडो बनने के लिए आपको स्पेशलिस्ट कोर्स में चयनित होना होगा। यह कोर्स आपको फौजी कमांडो बनने के लिए आवश्यक योग्यता और दक्षता प्रदान करता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद, आपको सेना कमांडो बनने का इंतजार करना होगा।

अगर आप अग्निवीर प्रणाली के तहत भारतीय सेना में सिपाही के तौर पर भर्ती होते हैं तभी आपको कमांडो दस्ते में विशेष परीक्षण के बाद सम्मिलित किया जा सकता है| अर्थात भारतीय सेना में आप कमांडो अधिकारी बनने के बाद भी बन सकते हैं और अग्निवीर के तहत एक सिपाही बनकर भी आप कमांडो कोर्स के लिए चयनित हो सकते हैं|

Indian Para SF Commando पैराशूट रेजिमेंट में PARA और PARA (SF) बटालियन

पैराशूट रेजिमेंट में PARA और PARA (SF) बटालियन शामिल हैं, जो भारतीय सेना का विशिष्ट स्वयंसेवी बल हैं। रेजिमेंट को ‘बहादुरों में सबसे बहादुर’ का सम्मान प्रदान किया गया। रेजिमेंट 08 अशोक चक्र, 11 महावीर चक्र, 21 कीर्ति चक्र, 106 शौर्य चक्र, 63 वीर चक्र और 491 सेना पदक से पहले ही सम्मानित हो चुकी है और सूची लगातार बढ़ती जा रही है।

हर वर्ष भारतीय सेना से कुछ अधिकारियों तथा सिपाहियों का चयन भारतीय सेना के Para SF कमांडो फोर्स के लिए होता है| | Para (Special Forces) जिसे पैरा (SF) के नाम से भी जाना जाता है, भारतीय सेना में पैराशूट रेजिमेंट के विशेष बल बटालियनों का एक समूह है। उरी हमले के बाद भारतीय सेना के पैरा कमांडो ने एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था| इन कमांडो को विशेष ट्रेनिंग मिलती है | भारतीय सैनिकों को PARA रेजिमेंट ज्वाइन करने के लिए के लिए विशेष स्क्रीनिंग टेस्ट से गुजरना पड़ता है

अन्य सैनिकों की तुलना में कुछ भत्ते ज्यादा मिलते हैं

जब आप स्पेशलिस्ट कोर्स को पूरा कर लेते हैं, तो आप इंडियन आर्मी के पैराशूट रेजीमेंट में पैरा स्पेशल फोर्स कमांडो के रूप में सेवा शुरू कर सकते हैं। आपको तैयारी के साथ-साथ संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा और भारतीय सेना के मूल मूल्यों और संस्कृति का सम्मान करना होगा। जब आप एक पैरा कमांडो के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं तो आपको कुछ भत्ते ज्यादा मिलते हैं|

कमांडो बनने का मार्ग चुनौतीपूर्ण और मुश्किल हो सकता है, लेकिन इसमें लगन और समर्पण से आप अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं। इसके लिए तैयार रहें, शारीरिक रूप से मजबूत बनें, और समय से पहले भारतीय सेना के भर्ती प्रक्रिया के लिए आवेदन करें। धीरज और मेहनत से, आप एक भारतीय सेना कमांडो बन सकते हैं और देश की सेवा करने का गर्व महसूस कर सकते हैं। दोस्तों यह भी जानकारी कि भारतीय सेना में कमांडो कैसे बनते हैं| पैराशूट रेजीमेंट क्या है और पैरा एसएस कमांडो क्या होते हैं

इंडियन आर्मी पैरा कमांडो बनने के लिए आवश्यक मापदंडों को आप यहां देख सकते हैं

kaisebane

Share
Published by
kaisebane

Recent Posts

CBSE Results 2024: इस तारीख को घोषित होगा कक्षा 10 और 12 बोर्ड परिणाम

सीबीएसई बोर्ड के छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है| CBSE 2024 कक्षा 10 और…

3 weeks ago

भारत की पहली महिला रेसलर हमीदा बानो – Google Doodle Hamida Banu tribute

भारत खेलो और खिलाड़ियों का देश है| भारत के तमाम खेलों में कुश्ती बहुत ही…

3 weeks ago

NET / JRF Exam 2024 Notification| Oppertunity to Apply

National Testing Agency (NTA) has relased UGC NET / JRF Exam June 2024 Notification. राष्ट्रीय…

1 month ago

UPPSC ARO/RO के Mains Exam की अच्छी तैयारी कैसे करें

दोस्तों पिछली पोस्ट में हमने आपको ये बताया था कि समीक्षा अधिकारी कैसे बने -…

1 month ago

UPPSC ARO/RO 2024 Prelims Re-exam Latest Update

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा 11 फरवरी को दो शिफ्ट में उत्तर प्रदेश लोक…

1 month ago

How to make graphics designing career Top 10 tips

दोस्तों आज की दुनिया ग्राफ़िक्स और कंप्यूटर की दुनिया है | आज कल ग्राफ़िक्स डिजाईन…

5 months ago