कैसे करें खुद के लिए बेहतर कोचिंग का चुनाव

दोस्तों अगर आप किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तयारी करना चाहते हैं और अगर आपके उसके लिए कोचिंग का चुनाव करना चाहते हैं तो ये पोस्ट आपको बहुत ज़्यादा सहायता करेगी |इस पोस्ट के माध्यम से हमारा प्रयास रहेगा कि हम आपका मार्गदर्शन कर सकें ताकि आप सरकारी नौकरी की तयारी के लिए एक बेहतर कोचिंग का चयन कर सकें जो आपका मार्ग और ज़्यादा प्रशस्त करे |

किसी भी सरकारी जॉब की तैयारी के लिए ऐसी कोचिंग को चुने जिसमे ये गुण हों

१. पिछली परीक्षाओं में रिजल्ट
२. पाठ्य सामग्री का संकलन
३. नियमित अभ्यास
४. आपके निवास स्थान से दूरी
५. वीकली टेस्ट और मंथली टेस्ट

६. अच्छे और प्रखर अध्यापक
७ फ़ीस और उसे कलेक्ट करने की व्यवस्था

उपरोक्त गुणों और पॉइंट्स के आधार पर आप अपनी कोचिंग का चयन कर सकते हैं | ऐसे माहौल का चयन करिये जिसमे आप Comfortable महसूस करें कई बार लोगों को घुटन सी महसूस होती है | वो कोचिंग के माहौल में बहुत दिनों के बाद भी एडजस्ट नहीं कर पाते | ऐसा माहौल आपके अध्यययन के लिए बिलकुल भी अनुकूल नहीं होता है| ऐसी स्थिति में छात्र पढ़ाई से ज़्यादा अपने व्यक्तित्व में कमी को तलाशने में लग जाते हैं| कोचिंग ऐसी होनी चाहिए जिसमे आप को सुविधा भले कम मिले मगर हौसला बहुत ज़्यादा मिले |

जीवन को सकारात्मक कैसे बनायें

ये बिलकुल भी आवश्यक नहीं कि आप को मॅहगी कोचिंग में जाने से ही लाभ मिले | हो सकता है कि कोई छोटा संसथान भी आपको आपके सिलेक्शन में योगदान कर दे| आप ये भी देखें कि जिस संसथान का चुनाव आपने किया है वहां पर आपको अपने विषय के लिए उचित अध्यापक मिल रहे हैं कि नहीं | पाठ्य सामग्री कैसी है और पढ़ाने की शैली आपको कितनी समझ में आ रही है | कोचिंग के शिक्षक आपकी समस्याओं का निस्तारण कैसे करते हैं | वो आपकी बात सुन रहे हैं कि नहीं | अध्यतन सामग्री पर उनका कितना ध्यान जाता है | वो अपनी कक्षाओं में नियमित हैं कि नहीं | आपको अपने प्रश्नो के उत्तर कितनी जल्दी मिल जाते हैं | ये सभी बातें आपको ध्यान में रखनी होंगी

अगर आप आईएएस या पीसीएस की तैयारी करना चाहते हैं तो उन परीक्षाओं पर आपकी तय कोचिंग का पिछले वर्षों में क्या रिजल्ट रहा है | ऐसे कई बिंदु होते हैं जिसमे आपको आभास हो जाता है कि आपकाकोचिंग का चुनाव सही है कि नहीं |अगर आप को कोई शंका है तो आप इंटरनेट पर कोचिंग के रिव्यु पढ़ सकते हैं कि अन्य अभ्यर्थी उस संसथान के बारे में क्या राय रखते हैं| कोर्स को समाप्त करने का उस कोचिंग का क्या ट्रैक रेकॉर्ड रहा है | समय पर कोर्स ख़त्म होता है कि नहीं | मॉडल पेपर और मॉडल टेस्ट कराये जाते हैं कि नहीं | समय समय पर विशेषज्ञों के माध्यम से आपको उचित मार्गदर्शन मिलता है कि नहीं| अगर ये सारी बातें आपने क्लियर कर ली तो आपको अपने कोचिंग के चुनाव में बहुत ज़्यादा मदद मिलेगी

तो दोस्तों ये थी जानकारी कि खुद के लिए कोचिंग का चुनाव कैसे करें | अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो कृपया इसे शेयर और लाइक अवश्य करें

LEAVE A REPLY