Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी

0
8344
0
0

दोस्तों ठीक पिछली पोस्ट में हमने आपको जानकारी दी थी कि कमर्शियल पायलट कैसे बने- How to become a Commercial Pilot.आज हम  आपको एक और रोचक और रोमांचकारी करियर के बारे में बताने जा रहे हैं कि Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी- जब भी लोग एविएशन करियर के बारे में बात करते हैं तो उनके दिमाग में सिर्फ Air Force में पायलट कैसे बने – आज  इंडियन एयर फोर्स के बारे में  भारत के लाखों करोड़ो नौजवान जानना चाहते है |

क्या है इंडियन एयर फोर्स

इंडियन एयर फोर्स के बारे में, कैसे एयर फोर्स में जाये । सशस्त्र बलों में साहसी युवा उम्मीदवारों के लिए उत्कृष्ट कैरियर के रूप में पायलट बनने के लिए अवसर प्रदान करते हैं। वायु सेना में पायलट का पद  एक ऐसा कैरियर है जिसमे बहुत सारी सुविधा, एक बेहतर जीवन शैली और देश की सेवा का सम्मान प्रदान करता है।  भारतीय वायु सेना, भारतीय सशस्त्र सेना के तीन प्रमुख अंगों में से एक है। इसका उद्देश्य वायु युद्ध और वायु क्षेत्र की चौकबन्दी कर भारत देश की सुरक्षा करना है।

tags : Air Force में पायलट कैसे बने एयर फोर्स में करियर की जानकारी

भारतीय वायु सेना में काम करना एक सम्मान और चुनौती से भरा काम होता है | और जब ये काम पायलट स्तर के पोस्ट के लिए हो तो पूछने ही क्या ? एयरफोर्स की बाकी पोस्ट और पायलट की पोस्ट में बहुत अंतर होता है | मानसिक स्तर पर मज़बूत लोग ही भारतीय वायु सेना में पायलट बनाये जाते हैं

भारतीय वायु सेना एयरफोर्स में पायलट बनने के लिए आपमें मेहनत, लगन, ईमानदारी और समर्पण के साथ ही देश के प्रति अगाध प्रेम होना भी अनिवार्य है। साथ ही इसमें आपको रोमांच और हवा में उड़ान भरने का सुख भी प्राप्त होगा। नई-नई तकनीकों से लैस संसाधनों से आपका परिचय होगा

सबसे पहले ये जानकारी लेते हैं कि वायु सेना की कौन कौन सी ब्रान्चेस में आप जा सकते हैं और एक पायलट के तौर पर काम करने के अतिरिक्त एयरफोर्स में और कौन कौन से करियर के विकल्प  हैं

वायु सेना की मुख्य तीन ब्रांच जिसमें आप आवेदन कर सकते हैं-

इंडियन एयर फोर्स में 3 क्षेत्रों में काम होता है। कोई भी छात्र-नौजवान अपनी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर इन क्षेत्रों का चयन कर आवेदन कर सकता है।

1. फ्लाइंग ब्रांच

इस ब्रांच में आप पायलट के रूप में जॉब कर सकते हैं। अगर आप स्नातक उत्तीर्ण कर चुके हैं तब इसमें जाने के लिए आपको CDS कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेस (सीडीएस) एग्जाम या AFCAT एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होना होगा।

अगर आपने 10+2 उत्तीर्ण किया है तब आपको NDA नेशनल डिफेन्स अकादमी (एनडीए) या NA नेवल अकादमी (एनए) की परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा। फ्लाइंग ब्रांच में शामिल होने से पहले आपकी 74 सप्ताह की ट्रेनिंग होगी।

2. टेक्निकल ब्रांच

यह बेहद महत्वपूर्ण ब्रांच मानी जाती है। नई तकनीक से तैयार उपकरणों के रख-रखाव से लेकर उसकी मरम्मत तक में अच्छे टेकनीशियन और मकैनिक की आवश्यकता रहती है। मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और तकनीकी ज्ञान हासिल किये छात्र-नौजवान इसमें AFCAT एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) की परीक्षा उत्तीर्ण करके जा सकते हैं। यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम के तहत भी लोग इस विभाग में शामिल हो सकते हैं।

3. ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच

इस ब्रांच के अंतर्गत एकाउंटिंग, मैनेजमेंट, एडमिनिस्ट्रेशन, ऑडिटिंग, लोजिस्टिक आदि कामों में आप सेवा दे सकते हैं। इसमें जाने के लिए भी आपको सम्बंधित विषय के साथ ए.एफ.सी.ए.टी. की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। इसमें पहले 52 सप्ताह की ट्रेनिंग होगी, उसके बाद आप स्थायी रूप में नियुक्त हो जाएंगे।

एयर फोर्स के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता और वेतनमान

इंडियन एयर फोर्स में आप हाईस्कूल उत्तीर्ण करने के बाद से ही शार्ट सर्विसेस कमीशन के तहत भर्ती हो सकते हैं। लेकिन किसी भी स्तर पर स्थायी नियुक्ति हेतु आपका 10+2 भौतिक और गणित विषय के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। विभिन्न ऑफिसर्स के पद पर आवेदन करने के लिए आपका स्नातक होना अनिवार्य है।

इंजीनियरिंग क्षेत्र से जुड़े छात्र सी.डी.एस. या ए.एफ.सी.ए.टी. की परीक्षा उत्तीर्ण करके इसमें शामिल हो सकते हैं। ट्रेनिंग के बाद, तीनों ही ब्रांच में 62 हजार से लेकर 75 हजार तक मासिक वेतनमान पर नियुक्ति होती है।

विभिन्न पदों के अनुसार आयु सीमा 16 वर्ष से 25 तक अलग-अलग निर्धारित है। इस क्षेत्र में जाने के लिए आपका अविवाहित होना अनिवार्य है।

tags : Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी

वायु सेना के पायलट की पात्रता- Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी

हमने ऊपर आपको बताया कि फ्लाइंग ब्रांच के अलावा और भी सेक्शन हैं जहा आप भारतीय वायु सेना में जा सकते हैं | हम चलिए ये देखते हैं कि Indian Air Force me Pilot kaise bane – भारतीय वायु सेना में पायलट कैसे बने – भारतीय वायुसेना के पायलट बनने के लिए आप के पास निम्नलिखित अवसर हैं

1. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) के द्वारा

पात्रता मापदंड

NDA में शामिल होने के लिए आप निम्न आवश्यकताओं को पूरा करने की जरूरत है:

1. NDA के लिए शैक्षिक योग्यता

NDA में शामिल होने के लिए भौतिकी और गणित विषयों के रूप में के साथ 10 + 2 परीक्षा पास होना चाहिए।

  1. आयु: 16-1 / 2 साल से 19 साल के बीच होना चाहिए।
  2. राष्ट्रीयता: भारतीय
  3. लिंग: यह केवल पुरुषों के लिए लागू है।
  4. शारीरिक मानक

जनरल शारीरिक सभी उम्मीदवारों के लिए सामान है।

•आप किसी भी रोग / विकलांगता, जो कर्तव्यों के निर्वहन  में बाधा डाल सकते हैं से मुक्त होने  चाहिए |  कमजोर या किसी भी प्रकार का  शारीरिक दोष या अधिक वजन  नहीं होना चाहिए।

•उसका सीना अच्छी तरह से विकसत होना चाहिए। चाहिए। पूर्ण विस्तार की न्यूनतम सीमा 5 सेमी होना चाहिए।

•हड्डियों और शरीर के जोड़ों का कोई रोग होना चाहिए।

•आपका कान, नाक और गला भूतकाल  या वर्तमान बीमारी के किसी भी सबूत के बिना सामान्य होना चाहिए।

•मूत्र परीक्षा किया जाएगा और किसी भी विषमता, अगर पता चला, अस्वीकृति के लिए एक कारण हो सकता है।

•त्वचा में किसी भी बीमारी है, जो विकलांगता या विकृति पैदा होने की संभावना है, यह भी अस्वीकृति के लिए एक कारण हो जाएगा।

•विजन परीक्षण किया जाएगा। आपकी दूरदृष्टि अच्छी होनी चाहिए

•आप प्राकृतिक और  दांतों की पर्याप्त संख्या होनी चाहिए। न्यूनतम 14 दंत अंक पर्याप्त है। यदि 32 दांत मौजूद हैं, तो कुल दंत अंक 22 होना चाहिए। आप गंभीर पायरिया से पीड़ित नहीं होना चाहिए।

2. संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा के माध्यम से (CDSE)

पात्रता मापदंड

CDSE में शामिल होने के लिए आपको निम्न आवश्यकताओं को पूरा करना चाहिए।

1. CDSE के लिए शैक्षिक योग्यता

प्रथम श्रेणी में स्नातक (न्यूनतम 60% कुल अंक) (तीन वर्ष पाठ्यक्रम) + भौतिकी और गणित के साथ 10+2 पास होना चाहिए।

प्रथम श्रेणी (न्यूनतम 60% कुल अंक) B.E./B.Tech (चार साल)।

अंतिम वर्ष के छात्र भी शामिल हो सकते हैं। बशर्ते कि पिछले वर्ष के सेमेस्टर में कुल 60% अंक हो।

  1. आयु: 19 साल से 23 साल
  2. राष्ट्रीयता: भारतीय
  3. वैवाहिक स्थिति: एकल।

 वायुसेना के पायलट बनने के लिए चरण

भारतीय वायुसेना के पायलट एक बनने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होता है।

  • चरण 1 – आवेदन की जाँच

पात्रता जांच करने के लिए आपके द्वारा दिए आवेदन की जांच के बाद भारतीय वायुसेना से आप आगे के निर्देश के साथ एक कॉल पत्र प्राप्त करेंगे।

NDA या CDSE के माध्यम से उड़ान शाखा में प्रवेश की के लिए, अपने आवेदन पत्र यूपीएससी, नई दिल्ली के लिए भेजने की जरूरत है। यह अप्रैल और अगस्त (NDA) और अप्रैल और सितम्बर (CDSE) में एक प्रश्नपत्र का लिखित परीक्षा साल में दो बार आयोजित करता है।
परीक्षाओं के लिए विज्ञापन अग्रिम में छह महीने पहले जारी किए जाते हैं। इन परीक्षाओं में पास होने के बाद आप दूसरे चरण के लिए योग्य हो जाते हैं। यदि आप शॉर्ट सर्विस कमीशन फ्लाइंग (पायलट) या एक एनसीसी सीनियर डिवीजन ‘सी’ प्रमाण पत्र धारक के रूप में आवेदन करते हैं तो आपके आवेदन पर एयर मुख्यालय द्वारा कार्रवाई की जाती है और AFSBs द्वारा कॉल पत्र जारी किया जाता है।

  • चरण 2 -अधिकारी की तरह गुण का परीक्षण

चरण 1 को सफलतापूर्वक  पूरा करने के बाद, आप वायु सेना चयन बोर्डों देहरादून, वाराणसी और मैसूर में स्थित में से किसी एक को रिपोर्ट करने के लिए एक कॉल लैटर  प्राप्त करेंगे। वायु सेना चयन बोर्डों पर, आपको मनोवैज्ञानिक परीक्षण, एक साक्षात्कार और समूह की गतिविधियों, जो अधिकारी गुण परिक्षण (OLQ) कहा जाता है से गुजरना होता है। यह परीक्षण सशस्त्र बलों में एक अधिकारी के रूप में आपकी क्षमता और उपयुक्तता मापने के लिए तैयार किये जाते हैं।

टेस्ट का संक्षिप्त विवरण

मनोवैज्ञानिक परीक्षण एक लिखित परीक्षण है जो एक मनोवैज्ञानिक द्वारा लिया जाता है। समूह टेस्ट में इंटरैक्टिव इनडोर और आउटडोर परीक्षण किया जाता है।  एयरफोर्स  आपसे सक्रिय शारीरिक भागीदारी की उम्मीद करता है | साक्षात्कार में एयरफोर्स के अधिकारी के साथ एक निजी बातचीत शामिल है।

OLQ टेस्ट के लिए निम्नलिखित कार्यक्रम है:

फ्लाइंग ब्रांच के लिए कार्यक्रम

दिन 1 – पायलट एप्टीट्यूड बैटरी टेस्ट (सबसे महत्वपूर्ण टेस्ट)
दिन 2- पहले चरण में और मनोवैज्ञानिक परीक्षण
दिन 3 – समूह परीक्षण
दिन 4- समूह परीक्षण साक्षात्कार
दिन 5 – साक्षात्कार
दिन 6- सम्मेलन

ये है  वायुसेना के पायलट बनने के लिए सबसे महत्वपूर्ण परीक्षण

पायलट एप्टीट्यूड बैटरी टेस्ट (PABT) एक अद्वितीय परीक्षण है। इसका उद्देश्य उम्मीदवार की योग्यता का आकलन करने के लिए और उसके एक पायलट के रूप में प्रशिक्षित करने के लिए  है। PABT भारतीय वायुसेना के फ्लाइंग ब्रांच में संभावित अधिकारियों को शामिल करने एक स्वतंत्र चयन युक्ति के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। PABT अर्थात साधन बैटरी टेस्ट (InSb), संवेदी मोटर तंत्र टेस्ट (SMA) और नियंत्रण वेग टेस्ट (CVT) तीन टेस्ट शामिल हैं। साधन बैटरी टेस्ट (InSb) एक कागज पेंसिल परीक्षण है और अन्य दो मशीन परीक्षण हैं।

  • चरण 3 – मेडिकल परीक्षण

अगर आपका चयन बोर्ड द्वारा उपयुक्त पाया गया है तो आपको पूरी तरह से चिकित्सा जांच के लिए वायु सेना के केंद्रीय चिकित्सा स्थापना, नई दिल्ली या एयरोस्पेस मेडिसिन, बेंगलोर के लिए भेजा जाएगा।

  • चरण 4 – ऑल इंडिया मेरिट सूची 

एक अखिल भारतीय मेरिट सूची AFSB पर आपके प्रदर्शन के आधार पर चिकित्सकीय रूप से फिट होने पर बनाई जाती है। रिक्तियों के आधार पर वायुसेना मुख्यालय पायलट के प्रशिक्षण के लिए वायु सेना अकादमी में शामिल होने के लिए निर्देश जारी करती है ।

वायु सेना के पायलट करियर विकल्प- पायलट कैसे बने 

एक बार जब आप पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना में सम्मिलित  हो जाते है। फिर आपकी क्षमता और अपनी सेवाओं के अनुभव के साथ निम्नलिखित दी गई स्थिति के लिए पर स्थानांतरित हो सकते हैं।

  • फ्लाइंग ऑफिसर
  • एविएशन का कप्तान
  • दस्ते का नेता
  • विंग कमांडर
  • हवाई बेड़े का कर्नल
  • हवाई बेड़ा का जनरल
  • एयर वाइस मार्शल
  • एयर मार्शल

एयर चीफ मार्शल- भारतीय वायु सेना (इंडियन एयरफोर्स) का सबसे बड़ा  पद है।

वायु सेना के पायलट का वेतन कितना होता है ? 

भारतीय वायु सेना के पायलटों का वेतन  सशस्त्र बल के उच्च भुगतान कर्मियों में से एक हैं। यहां तक कि प्रशिक्षण के दौरान भी उनकी Rs.21,000 की एक मासिक स्कॉलरशिप के साथ इनकम शुरू होती है। वायु सेना में काम करने का रुतबा ही अलग होता है और वो ख़ास तौर पर पायलट के पद पर

जैसा कि आपने देखा कि भारतीय वायु सेना में पायलट के पद पर काम करना और पायलट के लिए चयनित होना दोनों ही आसान बाते नहीं हैं मगर फिर भी नियमित पढाई , अच्छे मानसिक स्तर , और स्वस्थ शरीर के साथ अगर इमानदार प्रयास किया जाए तो कुछ भी असंभव नहीं है

दोस्तों ये थी जानकारी कि Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी-अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई होतो तो और लोगो के साथ इसे शेयर करे

tags : Air Force में पायलट कैसे बने – एयर फोर्स में करियर की जानकारी

0
0

LEAVE A REPLY

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)