IFS क्या होता है – आईएफएस का फुल फॉर्म – IFS की पूरी जानकारी

दोस्तों आज की पोस्ट बेहद रोचक है | आज हम आप को ये बताने जा रहे हैं कि IFS क्या होता है – आईएफएस का फुल फॉर्म – IFS की पूरी जानकारी| दोस्तों आईएफएस दो सेवाओं से जुड़ा हुआ शब्द है | पहला विदेश सेवा से और दूसरा वन सेवा से | अधिकतर लोग इसी में कंफ्यूज रहते हैं | आईएफएस को इंडियन फारेस्ट सर्विसेस अर्थात भारतीय वन सेवा तथा इंडियन फॉरेन सर्विसेज यानि भारतीय विदेश सेवा कहते है | तो चलिए समझते हैं कि UPSC आईएफएस क्या है और आईएफएस कैसे बनते हैं

आईएफएस का फुल फॉर्म – IFS ka Full Form kya hai

हम आपको IFS का फुल फॉर्म बताने जा रहे हैं |

  • IFS – Indian Forest Services भारतीय वन सेवा (जिला वन अधिकारी )
  • IFS- Indian Foreign Services भारतीय विदेश सेवा (विदेशों में भारतीय राजनयिक )

आईएफएस – IFS कैसे बनें

दोस्तों पहले आपको ये तय करना होगा कि आप का आईएफएस बनने से आशय फारेस्ट विभाग में अधिकारी से है या विदेशों में भारतीय राजदूत | क्योंकि दोनों के लिए योग्यता के मानक अलग अलग हैं हालांकि दोनों परीक्षाओं को संघ लोक सेवा आयोग ही आयोजित करता है मगर दोनों पदों के लिए अनिवार्य योग्यता में अंतर है|

कुछ वर्ष पहले तक संघ लोक सेवा आयोग एक ही परीक्षा के माध्यम से भारतीय वन सेवा भारतीय विदेश सेवा के पदों को भरता था। लेकिन कालांतर में भारतीय वन सेवा परीक्षा को संघ लोक सेवा आयोग की संयुक्त परीक्षा से अलग कर दिया

भारतीय वन सेवा के बारे में जानकारी – इंडियन फारेस्ट सर्विसेज

भारत की तीन अखिल भारतीय सेवाओं (आईएएस , आईपीएस और आईएफएस ) में से एक, भारतीय वन सेवा हेतु अधिकारियों के चयन के लिए इस परीक्षा का आयोजन प्रत्येक वर्ष संघ लोकसेवा आयोग (UPSC) द्वारा किया जाता है।

भारतीय वन सेवा परीक्षा में बैठने हेतु पात्रता क्या है

शैक्षणिक योग्यता [Educational Qualification] 

*उम्मीदवार के पास भारत के केंद्र या राज्य विधान मंडल द्वारा निगमित किसी विश्वविद्यालय की या संसद के अधिनियम द्वारा स्थापित या विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, 1956 के खंड – 3 के अधीन विश्वविद्यालय के रूप में मानी गयी किसी अन्य शिक्षा संस्था से पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान,वनस्पति विज्ञान, रसायन विज्ञान,भूगर्भशास्त्र,गणित,भौतिकी,सांख्यिकी एवं प्राणीविज्ञान विषयों में से किसी एक विषय में स्नातक अथवा कृषि,वानिकी या इंजीनियरी (Engineering) में स्नातक की योग्यता होनी चाहिए।

*वे छात्र जो स्नातक अथवा समकक्ष परीक्षा के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं या अंतिम वर्ष में हैं, वे प्रारंभिक परीक्षा में बैठ सकते हैं । लेकिन मुख्य परीक्षा में शामिल होने से पूर्व उन्हें आवेदन पत्र के साथ न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की डिग्री संलग्न करना आवश्यक है।

आयु सीमा

समान्य वर्ग के अभ्यर्थी के लिए न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष है |

भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस ) इंडियन फॉरेन सर्विसेज

भारतीय विदेश सेवा परीक्षा का अलग से आयोजन नहीं होता | कॉमन सिविल परीक्षा के अन्तर्गत आईएफएस ( भारतीय विदेश सेवा के पद भरे जाते हैं ) इस पद लिए भी आयु सीमा यही है | नियमानुसार आयु में छूट भी प्राप्त होती है | संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिवल सेवा परीक्षा में हाई रैंक प्राप्त करने वालों को अगर वो इच्छुक है तो भारतीय विदेश सेवा के लिए चुना जाता है | अगर आप आईएएस परीक्षा में प्रतिभाग लेकर उच्च रैंक प्राप्त करेंगे तो अआप आईएफएस इंडियन फॉरेन सर्विस के लिए चयनित होंगे |

आईएफएस – भारतीय राजदूत के कार्य क्या है

Indian foreign service भारतीय विदेश सेवा – केंद्र सरकार के अंतर्गत आती है और इस पर नियुक्ति की पूरी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होती है. इसमें काम कर रहे लोगों को हमारे देश के विदेश के मामले तथा विदेश से हो रहे व्यापार और विदेश से अपने देश के संबंधों को कैसे अच्छा बनाएं उनके तहत काम करती है।

आईएफएस ऑफिसर (IFS officer) किसी भी देश के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि यह वही ऑफिसर होते हैं जो कि दूसरे देशों में अपने देश को एक राजदूत के रूप में represent करते है|

इनका काम होता है कि यह विदेशी सरकार और अपने देश की सरकार के बीच में समन्वय स्थापित करें ताकि दोनों देशों के बीच में व्यापारिक तथा सांस्कृतिक दोनों रिश्ते अच्छे रहें।

दोस्तों ifs officer को सम्मान आईएएस ऑफिसर से ज़्यादा प्रभाव वाला पद माना जात्ता है | आईएएस और आईपीएस की तरह हर तरह का लाभ मिलता है और इनका काम भी आईएएस और
स्तर का होता है। इन्हें हमारे देश के महत्वपूर्ण विदेशी मामलों को सुलझाना होता है।

अगर हमारे देश किसी देश के साथ कोई भी जमीन का मामला हो या कोई व्यापारिक मामला हो और किसी तरह का मामला हो इनकी जांच और इन को ठीक करने की जिम्मेदारी भी IFS officer भारतीय राजदूत (इंडियन फॉरेन सर्विसेज के अधिकारी ) की होती है।

भारतीय विदेश सेवा के लिए शैक्षणिक योग्यता – Indian foreign service eligibility

आईएएस के लिए जो योग्यता निर्धारित है वही आईएफएस के लिए भी है मगर इंग्लिश की अच्छी जानकारी होनी ज़रूरी है | क्योकि अपने कार्यकाल में अधिकतर समय विदेशों में बिताएंगे | आईएफएस इंडियन फॉरेन सर्व्विस – भारतीय विदेश सेवा से चयनित लोग दूतावास में भारतीय राजदूत के पद पर काम करते हैं |

आईएएस कैसे बने – आईएएस परीक्षा की पूरी जानकारी

तो दोस्तों ये थी जानकारी भारतीय वन सेवा और भारतीय विदेश सेवा के बारे में | हम दोनों को ही आईएफएस के नाम से जानते हैं | इंडियन फॉरेस्ट सर्विस और इंडियन फॉरेन सर्विस की ये पोस्ट आप को अगर पसंद आयी हो तो प्लीज इस पोस्ट को शेयर करने का कष्ट करें

LEAVE A REPLY