पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी

0
11126
0
0

दोस्तों करियर के एक नए आयाम पत्रकारिता को लेकर हम ये पोस्ट लिख रहे हैं | इस पोस्ट से हमारा प्रयास रहेगा कि हम आपको ये बता पाए कि पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी –साथ ही पत्रकारिता में करियर से जुड़े आपके सवालो का जवाब भी देने का प्रयास करेंगे | दोस्तों एक पत्रकार के रूप में आपको फील्ड और डेस्क दोनों पर काम करना पड़ सकता है| पत्रकारिता में करियर एक चुनौती और साहस भरा करियर है | अगर आप में विश्लेषण और तार्किक क्षमता के साथ साथ सच बोलने और उसे लोगों के सामने लाने का साहस है तो निश्चित ही आप पत्रकारिता के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं |

पत्रकार कैसे बनें-जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane

पत्रकारिता के क्षेत्र में करियर को लेकर अक्सर लोगों के पास कई सवाल होते हैं जैसे कि पत्रकारिता क्या हैं ? एक सफल पत्रकार कैसे बनें? पत्रकारिता में करियर कैसे बनायें ? Journalist क्या हैं ? Photography में करियर कैसे बनाये ? News reporter कैसे बनें ? पत्रकारिता के लिए कौनसा कौर्स करें ? News एडिटर कैसे बनें ?

ऐसे कई सारे सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट को पूरी तरह पढने के बाद मिल जायेंगे | जर्नलिज्म के फील्ड में करियर बनाने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है आपका मानसिक रूप से पूरी तरह तैयार और मजबूत होना यानी किसी भी परिस्थिति में खुद पर विश्वास करके काम पर ध्यान देना

पत्रकारिता क्या हैं ? जर्नलिज्म क्या है ??

रिता एक ऐसा क्षेत्र हैं जिसमें किसी भी न्यूज़, घटना या कोई जानकारी को एकत्रित करके मिडिया के माध्यम से घर घर पहुँचाना ही पत्रकारिता हैं | पत्रकारिता के कई अंग हैं जैसे जैसे कैमरा मेन, न्यूज़ रिपोर्टर, न्यूज़ एडिटर, एंकर, फोटोग्राफर आदि | आपको इनमे से किसी एक विषय को चुनकर आगे बढ़ना होगा हलाकि पत्रकारिता में कुछ पोस्ट ऐसी भी होती है जो कुछ वर्षों के अनुभव के बाद ही मिलती है |

पत्रकार बनने के लिए कौन सा कौर्स करें?

पत्रकार बनने के लिए आपकी शैक्षणिक योग्यता से ज्यादा महत्त्व रखता हैं आपका व्यक्तित्व, साहसी, इमानदार, परिश्रमी, संयमी होना आदि यही सब गुण अगर आपमें हैं तो आप पत्रकारिता की पढाई कर सकते हैं |पत्रकारिता में करियर बनाने के लिए किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास होना जरूरी है| 12वीं के बाद आप चाहें तो डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या डिग्री कोर्स कर सकते हैं. भारत के कई बड़े कॉलेजों में डिग्री लेवल पर मास मीडिया की पढ़ाई होती है| अगर आप ग्रेजुएशन के बाद पत्रकारिता की पढ़ाई करना चाहते हैं तो यह आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होगी| ग्रेजुएशन के बाद पीजी डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन, डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन कर सकते हैं| वहीं, सीधे दो वर्षीय पीजी डिग्री भी हासिल कर सकते हैं. वहीं, पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आप सीधे पीएचडी या एमफील भी कर सकते हैं|

पत्रकारिता के प्रमुख कोर्सेज: 

एक सफल पत्रकार बनने के लिए आप निम्न कौर्स में से कोई एक या उससे अधिक भी कर सकते हैं |

  • बैचलर डिग्री इन मास कम्यूनिकेशन
  • पीजी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म
  • एमए इन जर्नलिज्म
  • डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
  • जर्नलिज्म एंड पब्लिक रिलेशन
  • पीजी डिप्लोमा इन मास मीडिया

बैचलर ऑफ़ आर्ट  (जर्नलिज्म) | Bachelor of Art (JOURNALISM) 

12th के बाद किया जाने वाला यह कौर्स आपके पत्रकार बनने के सपने को पूरा कर सकता हैं | इस कौर्स में आपको बेसिक पत्रकारिता एवं पत्रकारिता के विभिन्न क्षेत्रों से अवगत कराया जायेगा |

  • शैक्षणिक योग्यता : 12th न्यूनतम 50 % अंकों के साथ
  • समय : 3 वर्ष
  • अनुमानित फ़ीस  : 25 हजार से 1 लाख प्रति वर्ष

बैचलर ऑफ़ साइंस (एनीमेशन & मल्टीमीडिया) | B.Sc. (Animation & Multimedia) में करियर 

बैचलर ऑफ़ साइंस (एनीमेशन & मल्टीमीडिया )यह एक टेकनिकल डिग्री हैं, अगर आप यह कौर्स करते हैं तो आपको न्यूज़ चेनल प्रिंट मीडिया, आदि जगहों पर बड़े पदों पर जॉब मिल सकती हैं | इस कौर्स में आप एनीमेशन, मल्टीमीडिया के साथ साथ ग्राफिक्स, विसुअल एडिटिंग, विडियो मेकिंग आदि पढ़ेंगे |

  • शैक्षणिक योग्यता : 12th (science) न्यूनतम 50 % अंकों के साथ
  • समय : 3 वर्ष
  • अनुमानित फ़ीस  : 50 हजार से 1.5 लाख प्रति वर्ष

बैचलर ऑफ़ जर्नलिज्म एवं मॉस कम्युनिकेशन [B.J.M.C.]

अगर आप पत्रकारिता में करियर बनाना चाहते हैं तो आपके लिए यह कौर्स बिलकुल सही रहेगा यह कौर्स विशेषकर पत्रकारिता एवं उससे जुड़े अन्य विषयों से सम्बंधित हैं | इस कौर्स में आप बेसिक से लेकर एडवांस पत्रकारिता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

इस कौर्स को करने के बाद आप न्यूज़ चेनल, प्रिंट मीडिया, रिपोर्टर, एडिटर आदि पदों पर जॉब पा सकते हैं | पत्रकारिता के लिहाज से यह एक बहुत ही सही कौर्स हैं | इस कौर्स से जुड़ी अन्य जानकारी इस प्रकार हैं |

  • शैक्षणिक योग्यता : 12th न्यूनतम 50 % अंकों के साथ
  • समय : 3 वर्ष
  • अनुमानित फ़ीस  : 50 हजार से २.5 लाख प्रति वर्ष

ये थे 12th के बाद किये जाने वाले under graduate कौर्स| इसके आलावा और भी कई कौर्स हैं जो आप ग्रेजुएशन के बाद भी कर सकते हैं जिनमे डिप्लोमा एवं पी.जी. डिप्लोमा शामिल हैं

पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के लिए क्या करें

अगर आप पत्रकारिता में डिप्लोमा करना चाहते है तो आप  एग्जीक्यूटिव डिप्लोमा इन जर्नलिज्म कर सकते हैं जो सिर्फ 1 इयर का कौर्स हैं जिसे आप ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं | इस डिप्लोमा कौर्स को करने के दौरान आप कम समय में पत्रकारिता को बेहतर समझ सकेंगे | और अगर आप ग्रेजुएशन कम्पलीट कर चुकें हैं और मास्टर करना चाह रहे हैं तो भी इस क्षेत्र में आपके लिए कई कोर्स उपलब्ध हैं | जो इस तरह हैं | पत्रकार कैसे बनें (Journalist kaise bane)

  • मास्टर ऑफ़ आर्ट (जर्नलिज्म)
  • मास्टर ऑफ़ आर्ट  (मॉस कम्युनिकेशन)
  • एग्जीक्यूटिव डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
  • पी जी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एवं मॉस कम्युनिकेशन
  • पी जी डिप्लोमा इन ब्रोडकास्ट जर्नलिज्म

[पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी] 

पत्रकारिता के प्रमुख कॉलेज | पत्रकारिता कहाँ से करें

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मॉस कम्युनिकेशन [IIMC] नई दिल्ली
  • सेंट . ज़ेवियरस कॉलेज – मुंबई
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बंगलौर
  • जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी : भोपाल
  • फिल्म एवं टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया : पुणे
  • टाइम्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म : नई दिल्ली
  • माखनला चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता व संचार विश्वविद्यालय
  • एशियन कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म
  • मास मीडिया रिसर्च सेंटर, जामिया मिलिया इस्लामिया
  • जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी

जर्नलिज्म कोर्स के महत्वपूर्ण फील्ड: पत्रकारिता के प्रमुख क्षेत्र

[ पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी] 
प्रिंट जर्नलिज्म: यह पत्रकारिता का सबसे पुराना फील्ड है जो भारत में अभी भी लोकप्रिय है. देश के कई भाषाओं में प्रिंट जर्नलिज्म के मौके उपलब्ध हैं. प्रिंट में मुख्य रूप से मैग्जीन, अखबार के लिए काम कर सकते हैं.

इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म: इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म पत्रकारिता को अक्षरों की दुनिया से निकालकर विजुअल की दुनिया में ले आया. ऑडियो, वीडियो, टीवी, रेडियो के माध्यम से यह दूर-दराज के क्षेत्र में भी लोकप्रिय होने लगा. टीवी सैटेलाइट, केबल सर्विस और नई तकनीकों के माध्यम से पत्रकारिता का यह सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बन चुका है.

वेब पत्रकारिता: पत्रकारिता के इस प्लेटफॉर्म ने रीडर, विजिटर्स को फीडबैक की सुविधा दी, यानी आप न्यूज मेकर से सीधे सवाल पूछ सकते हैं. स्मार्ट फोन के आ जाने से यह दिनप्रतिदिन आगे बढ़ रही है. पत्रकारिता के भविष्य के रूप में इस माध्यम को स्थापित किया जा रहा है.

पब्लिक रिलेशन: यह क्षेत्र पत्रकारिता से थोड़ा हटकर है, जर्नलिज्म की पढ़ाई के दैरान इसे भी पढ़ाया जाता है. किसी व्यक्ति, संस्थान की छवि को लोगों की नजर में सकारात्मक रुप से प्रस्तुत करना पब्लिक रिलेशन में आता है. पब्लिक रिलेशन का कोर्स करने के बाद बिजनेस हाउसेज, पॉलिटिकल पर्सन, सेलेब्रेटी और संस्थानों के लिए काम किया जाता है.

पत्रकारिता में करियर जॉब एवं सैलरी

अगर आप एक अच्छे कॉलेज से पत्रकारिता की पढाई करते हैं तो आपको आसानी से नौकरी मिल सकती हैं | पत्रकारिता हर दृष्टिकोण से एक अच्छा करियर विकल्प साबित होता है| इस क्षेत्र में नाम, पैसा, यश , सम्मान  सब कुछ हैं |

इस क्षेत्र में हो सकता है आपको अपने करियर को फील्ड वर्क से स्टार्ट करना पड़ें लेकिन जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता  जायेगा आपकी सैलरी एवं पद में भी बढ़ोतरी होती जाएगी | स्टार्टिंग में आपको 15 हजार से 20 हजार की नौकरी  मिल सकती हैं | हालाँकि ये निर्भर करता हैं कि आपकी जॉब किस शहर में  लगी हैं| अगर आपका चयन किसी बड़े ब्रांड जैसे आज तक ,  ZEE न्यूज़, आज तक आदि में होता हैं तो आपको प्रारंभ से ही अच्छा पैकेज मिलने लगता हैं|

[ पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी]  

दोस्तों अगर आपको हमारी ये पोस्ट “पत्रकार कैसे बनें -जर्नलिस्ट कैसे बने-Journalist Kaise bane -पत्रकारिता की हिंदी में जानकारी” पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को लाइक और शेयर ज़रूर करें

 

0
0