कमर्शियल पायलट कैसे बने- How to become a Commercial Pilot

1
2517
0
0

आज हम आपको बताएँगे कि commercial Pilot कमर्शियल पायलट कैसे बने- How to become a commercial Pilot – हिंदी में पायलट बनने की जानकारी-बचपन में बच्चो से अगर पूछा जाए तो कई लोगो का लक्ष्य पायलट या विमान चालक बनने का होता है. पायलट बनने के लिए उम्मीदवार के पास हिम्मत और जज्बा होना जरूरी है। इसके लिए उम्मीदवार को मानसिक और शारीरिक, दोनों तरह से स्वस्थ होना चाहिए।

कमर्शियल  पायलट कैसे बने- How to become a Commercial Pilot

विमान चालक एयरक्राफ्ट की इंडस्ट्री के उस व्यक्ति को कहते है जो एयरोप्लेन या विमान को उड़ा कर उसमे बैठे यात्रियों को या किसी सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाता है.पायलट को एयरलाइन कंपनियां, या सरकार अपने-अपने एयरोप्लेन को उड़ाने के लिए तैनात करती है. कई बार तो कुछ पायलट अपने एयरोप्लेन को खुद ही चलाते है.

यदि आप ने पायलट बनने का लक्ष्य रखा है तो  आपको अपने कुछ व्यक्तिगत गुणों में भी ध्यान देना होगा.यह एक ऐसा क्षेत्र  है जिसमे उम्मीदवार को धैर्य, अनुशासन, और आत्मविश्वाशी बनना जरूरी होता है. यह क्षेत्र   मेहनत, सहनशक्ति, लम्बा समय शेडय़ूल, दिमागी सतर्कता के अनुसार अच्छी टीम भावना की मांग करता है. इस फील्ड में आपको हर परिस्थिति में मानसिक रूप से सतर्क रहना होगा। किसी भी इमरजेंसी स्थिति में भावनात्मक रूप से स्थिर रहने का गुण भी आपके पास होना चाहिए। पायलट कैसे बने या पायलट बनने के लिए क्या करें ? या पायलट कैसे बनें? तो चलिए आगे जानकारी प्राप्त करते हैं |

आप को ये जानकारी देना बहुत ज़रूरी है है कि पायलट दो तरह के होते हैं १) भारतीय वायु सेना का पायलट या एयरफोर्स पायलट और दूसरा कमर्शिअल पायलट-

अगर आप एयरफोर्स में पायलट बनना चाहते हैं तो ये पोस्ट पढ़े 

कमर्शियल पायलट कैसे बने – पायलट का काम (Pilot work) –

पायलट सेना के जवानो, यात्रियों, सामान या अलग-अलग तरह के कार्गो के लिए जिम्मेदार होते है. किसी पायलट का काम उसके काम करने की इंडस्ट्री तथा वह किस प्रकार का विमान उड़ा सकता है इन दोनों बातो पर निभर करता है. कुछ पायलट केवल हेलीकाप्टर उड़ाने में सक्षम होते है. कुछ पायलट बड़े-बड़े हवाई जहाजो को उड़ा सकते है. तथा कुछ पायलट केवल कार्गो विमानों को ही उड़ा सकते है. जिसको कोई सामान लेने या ले जाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है.

कमर्शियल पायलट के शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification) –

यदि आप (Commercial Pilot)पायलट बनना चाहते है तो आप को फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ से 12th क्लास में कम-से-कम 50 %अंकों के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है. और साथ में आपको हिंदी और इंग्लिश भाषा के साथ-साथ किसी अन्य भारतीय भाषा का ज्ञान भी होना चाहिए.

एयरफोर्स में कमर्शियल पायलट- भारतीय वायु सेना में पायलट कैसे बने 

भारतीय वायु सेना में पायलट बनने के लिए आपको NDA एग्जाम क्लियर करना होगा और फिर एयरफोर्स की पायलट परीक्षा को पास करना पड़ेगा –

पायलट बनने के लिए चयन प्रक्रिया (Selection Process) –

पायलट की भर्ती के लिए सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा देनी होगी. जिसमे आपसे 12 क्लास के मैथ, फिजिक्स और इंग्लिश, रीज़निंग विषय से सम्बंधित प्रस्न पूछे जायेंगे. इस लिखित परीक्षा को पास करने के बाद आपको इंटरव्यू देना होता है. जिसमे सफल उम्मीदवारों को एयरफोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैब्लिशमेंट (एफसीएमआई), नई दिल्ली या इंस्टीटूट ऑफ एविएशन मेडिसिन (आईएएम), बेंगलुरु से प्राप्त मेडिकल सर्टिफिकेट भी प्रेजेंट करना होता है।

इंडिया के बेस्ट पायलट ट्रेनिंग संस्थान (Best Pilot Institute in India) –

  1. Indira Gandhi Rashtriya Uran Akademi, Bareli
  2. Government Flying Training School, Bangalore
  3. Ahmedabad Aviation and Aeronautics, Ahmedabad
  4. Rajiv Gandhi Aviation Academy, Secunderabad
  5. All India Institute of Aeronautics, (AIIA), Dehradun
  6. Jamshedpur Co-operative Flying Club Ltd, Jamshedpur
  7. Indian Aviation Academy, Mumbai
  8. Coimbatore Flying Club, Coimbatore
  9. Government Aviation Training Institute, Bhubaneswar
  10. West Bengal Flying Training Institute, Kolkata

कैसे बनें पायलट 12 वीं क्लास के बाद (How to become a pilot after the 12th class)

पायलट बनने के लिए आपको सबसे पहले बहुत ज्यादा अच्छे नंबरों से 12th फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स के साथ पास करना होती हैं, यही है पहला कदम आपके पायलट बनने के सपने को पूरा करने के लिए | पायलट बनने के लिए क्या करें ?

अगर आप 12th class [PCM] से पास हैं और आपकी उम्र 16वर्ष या उससे कम हैं साथ ही आप शारीरिक एवं मानसिक तौर पर फिट हैं तो आप पायलट बनने के लिए योग्य हैं |  इसके  बाद आपको student pilot license एवं private pilot license लेना होता हैं |

 

1. पायलट बनने के लिए उम्मीदवार को 12th क्लास में फिजिक्स, केमिस्ट्री मैथ्स विषयों से पास होना अनिवार्य है. इसके साथ-साथ फिटनेस भी जरुरी है. इस फील्ड में न्यूनतम उम्र 16 वर्ष है. तथा उम्मीदवार के पास स्टूडेंट पायलट लाइसेंस (एसपीएल)व् प्राइवेट पायलट लाइसेंस (पीपीएल) होना चाहिए.

2. उम्मीदवर को 12th कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद सबसे पहले DGCA (Directorate General of Civil Aviation), गवर्नमेंट ऑफ इंडिया द्वारा मान्यता प्राप्त किसी फ्लाइंग क्लब में एडमिशन लेना होता है.

3. इसके बाद उम्मीदवार को एयर रेग्यूलेशंस, एविएशन मेट्रोलॉजी, एयर नेविगेशन और इंजन जैसे विषयों में एक एग्जाम देना होता है. इस एग्जाम को पास करने के बाद उम्मीदवार को स्टूडेंट पायलट लाइसेंस (SPL) का सर्टिफिकेट मिल जाता है.

4. यदि आप पायलट फील्ड में रोजगार चाहते है. तो इसके लिए आपके पास लाइसेंस होना अनिवार्य है. पहला, स्टूडेंट पायलट लाइसेंस (एसपीएल) है. जिसे प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार को करीब 06 महीना का कोर्स करना पड़ता है. 10 पास स्टूडेंट्स जिनकी न्यूनतम उम्र 16 वर्ष हो. इसके लिए अप्लाई कर सकते है

5. दूसरा, प्राइवेट पायलट लाइसेंस (पीपीएल) है, इसके लिए उम्मीदवार 12 क्लास पास होना चाहिए. तथा उसकी उम्र 17 वर्ष होनी चाहिए. इसके तहत 20 घंटे की एकल उड़ान सहित 60 घंटे की उड़ान होती है।

6. तीसरा,कमर्शियल पायलट लाइसेंस (सीपीएल) है. इसके लिए उम्मीदवार को दिन व रात में कम-से-कम 250 घंटे की उड़ान का अनुभव होना अनिवार्य है. तथा उम्मीदवार की आयु 18-30 वर्ष के बीच होनी अनिवार्य है.

7. चौथा, कमर्शियल हेलिकॉप्टर पायलट लाइसेंस (सीएचपीएल) है. इसमें प्राइवेट हेलिकॉप्टर उड़ाने के लिए 40 घंटे और कमर्शियल हेलिकॉप्टर उड़ाने के लिए 60 घंटे की उड़ान का अनुभव होना अनिवार्य है.

8. पांचवां, सीनियर कमर्शियल पायलट लाइसेंस (एससीपीएल) है. जिसमे उम्मीदवार को 750 घंटे से अधिक हेलिकॉप्टर उड़ान का अनुभव होना चाहिए.

9. छठा, एयरलाइन ट्रांसपोर्ट पायलट लाइसेंस (एटीपीएल) है. इसमें उम्मीदवार को 1500 घंटे की हेलिकॉप्टर उड़ान का अनुभव  होना चाहिए।

 

SPL Student Pilot License के लिए कहाँ आवेदन करें ?

  • इसके लिए आपकी Age 16 वर्ष तक होना चाहिए |
  • आपने 12th मैथ्स के साथ की होना चाहिए |
  • Student pilot license के लिए आपको किसी भी फ्लाइंग क्लब जो कि DGCA (Directorate General of Civil Aviation) Govt of India द्वारा मान्यता प्राप्त हो में एडमिशन लेना होगा |
  • अब आपको entrance exam से गुजरना होगा जिसकी तैयारी के लिए आपको कोचिंग आदि की जरुर पड़ सकती हैं |
  • Entrance exam clear होने के बाद आपका Medical test होगा |
  • इसके आलावा आपका Bank Record भी अच्छा होना चाहिए एवं security deposit भी देना होगा |

उपरोक्त शर्ते पूरी करने के बाद आपको Student pilot license मिल जाता हैं | student pilot license लेने के बाद आपको flight instructor की देख रेख में निर्धारित उड़ान निर्धारित समय (12 माह) पूरी करना होती है | यदि आप इसे सफलता पुर्वक पूरा कर लेते हैं तो आपको Private pilot license लेना होता है |

पायलट बनने के लिए कहाँ लें एडमिशन

  • Government flying training school : Bangalore
  • Indian Aviation academy : Mumbai
  • Indragandhi Rastriy udan academy : Bareli
  • All India institute of Aeronautic : Dehradhun
  • Ashiyatic International Aviation Academy : Indore
  • International School of Aviation : New Delhi, ETC.

 PPL Private pilot license  क्या हैं ? कहाँ आवेदन करें|

पायलट बनने के लिए क्या करें ?- एक बार जब आप student pilot license की ट्रेनिंग पूरी कर लेते हैं तो आपको Private pilot के लिए exam देना होती हैं जो कि पिछली exam से ज्यादा Subject एवं ज्यादा उड़ान पूरी  करनी  होगी |

जब आप इसे भी पार कर लेते हैं तो आपको Commercial pilot license के लिए आवेदन करना होता हैं जो कि आपके पिछले रिकॉर्ड एवं एक्स्पेरिंस के आलावा कुछ अन्य test देने के बाद आपको मिल जाता है और आप पायलट बन कर किसी प्राइवेट कंपनी या सरकारी विमान को उड़ाने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं |

तो दोस्तों ये थी जानकारी कि पायलट कैसे बने – अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई होतो इसे और लोगों के साथ शेयर करें

0
0

1 COMMENT

  1. […] पोस्ट में हमने आपको जानकारी दी थी कि कमर्शियल पायलट कैसे बने- How to become a Commercial Pilot.आज हम  आपको एक और रोचक और रोमांचकारी […]

LEAVE A REPLY

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)