वायरस और बैक्टीरिआ में क्या अंतर है Difference Between Bacteria and Virus in Hindi

0
73

जीवाणु और विषाणु में अंतर- Difference Between Bacteria and Virus in Hindi- वायरस और बैक्टीरिआ में क्या अंतर है

वायरस क्या है- What is Virus in Hindi

सबसे पहले जानते हैं कि विषाणु जिसका मतलब वायरस भी होता है वो क्या है – वायरस (virus) अकोशिकीय अतिसूक्ष्म जीव हैं जो केवल जीवित कोशिका में ही वंश वृद्धि कर सकते हैं। ये नाभिकीय अम्ल और प्रोटीन से मिलकर गठित होते हैं, वायरस क्या है- What is Virus in Hindiशरीर के बाहर तो ये मृत-समान होते हैं परंतु शरीर के अंदर जीवित हो जाते हैं। इन्हे क्रिस्टल के रूप में इकट्ठा किया जा सकता है। एक विषाणु बिना किसी सजीव माध्यम के पुनरुत्पादन नहीं कर सकता है। यह सैकड़ों वर्षों तक सुशुप्तावस्था में रह सकता है और जब भी एक जीवित मध्यम या धारक के संपर्क में आता है उस जीव की कोशिका को भेद कर आच्छादित कर देता है और जीव बीमार हो जाता है। एक बार जब विषाणु जीवित कोशिका में प्रवेश कर जाता है, वह कोशिका के मूल आरएनए एवं डीएनए की जेनेटिक संरचना को अपनी जेनेटिक सूचना से बदल देता है और संक्रमित कोशिका अपने जैसे संक्रमित कोशिकाओं का पुनरुत्पादन शुरू कर देती है।
वायरस किसी भी पौधे के बीज की तरह एक अकोशिकीय सूक्ष्म जीव होता है. जिस प्रकार पौधे के बीज को काफी समय (20 हजार सालों से भी अधिक) तक रखा जा सकता है सुरक्षित यदि उसमे धुप, पानी, मिटटी और हवा न दी जाये उसी प्रकार एक वायरस भी कई हजार वर्षों तक सुषुप्तावस्था में रह सकता है. जैसे एक बीज को हवा, पानी, मिट्टी और धुप मिलते ही वो पौधे का रूप लेने लगता है उसी प्रकार वायरस भी जीवित कोशिका मिलते ही अपने वंश को बढ़ाने लगता है.

जब वायरस किसी जीवित कोशिका में प्रवेश करता है तो वो मूल कोशिका के RNA और DNA की जेनेटिक संरचना को अपनी जेनेटिक संरचना के अनुसार बदल लेता है. और फिर एक संक्रमित कोशिका और संक्रमित कोशिकाओं का उत्पादन करने लगती है.

 बैक्टीरिया क्या है- What is Bacteria in Hindi जीवाणु क्या है

Bacteria को हिंदी में जीवाणु कहा जाता है जो अन्य प्रकार के जीवों में अंदर व बाहर दोनों जगह लाखों की मात्रा में पाए जाने वाले जीव है और ये हर पर्यावरण में होते हैं. ये किसी भी स्थान पे पाए जा सकते हैं जैसे कि: मिट्टी के अंदर, समुद्र के अंदर या मनुष्य की आँतों के अंदर. ये फायदेमंद और नुकसान दायक दोनों प्रकार के होते हैं जैसे कि: ये दूध को दही में बदलने के काम आते हैं और साथ ही हमारी पाचन क्रिया में भी सहायक होते हैं. और वहीं दूसरी तरफ ये निमोनिया आदि को उतपन्न होने का निमंत्रण भी देते हैं. वैसे कुछ ही ऐसे Bacteria होते हैं जो नुकसानदायक हों और बाकि हमारे लिए फायदेमंद और कारगर होते हैं.

जीवाणु और विषाणु में क्या अंतर है- Differences Between Bacteria and Virus in Hindi

वायरस क्या है- What is Virus in Hindi
जीवाणु (Bacteria) अन्य जीवों के अंदर पाए जाने वाले सूक्ष्म जीव होते है जिनकी संख्या लाखों में होती है और विषाणु (Virus) एक आकोशकीय सूक्ष्म जीव है जो किसी जीवित कोशिका के सम्पर्क में आते जीवि​_​_त होता है.जीवाणु (Bacteria) कभी भी सुसुप्त अवस्था में नहीं रहते हैं जबकि विषाणु (Virus) यदि किसी जीवित कोशिका के सम्पर्क में नहीं हैं तो वो सुसुप्त अवस्था में कई हजारों साल तक रहते है. जीवाणु (Bacteria) एक कोशिकीय जीव होता है और विषाणु (Virus) एक आकोशकीय जीव होता है.

जीवाणु एक बैक्ट्रिया होता है, और विषाणु एक वायरस होता हैं। जिन्हे संग्रह करना मुमकिन नहीं होता। इन्हें निर्जीव की भांति क्रिस्टल के रूप में संग्रह कर सकते हैं
केवल।वायरस न्यूक्लिक एसिड और प्रोटीन का छोटा पैकेट होता है और बैक्टीरिया एक सूक्ष्म कोशकीय जीव है जो अन्य जीव की अंदर व बाहर पाया जाता है. जीवाणु अधिकतर अच्छे होते हैं और बहुत कम मात्रा में नुकसान पहुंचाते है लेकिन कभी कभी ये कई बिमारियों को भी बुलावा देते हैं जबकि विषाणु हमेशा संक्रमित करता है और अपने अनुसार RNA और DNA को बदलता है. तो दोस्तों ये थी जानकारी – जीवाणु और विषाणु में अंतर- Difference Between Bacteria and Virus in Hindi- वायरस और बैक्टीरिआ में क्या अंतर है

LEAVE A REPLY