बीएड कैसे करें – बीएड की पूरी जानकारी – बीएड की फीस

0
192

दोस्तों आज हम आपको बीएड के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं | बीएड B. Ed. का फुल फॉर्म क्या है पहले ये जानते हैं – Bachelor Of Education – शिक्षा शास्त्र स्नातक | आज के इस प्रतिश्पर्धा के दौर में निजी स्कूल में भी टीचर बनने के लिए बीएड होना अनिवार्य कर दिया गया है | प्राथमिक या पूर्व माध्यमिक शिक्षा में बीएड किये हुए अध्यापको की बहुत मांग है | आज इस पोस्ट में  ये जानेंगे कि बीएड कब कर सकते हैं | बीएड करने के लिए न्यूनतम योग्यता क्या है | बीएड में कौन से विषय होते हैं | बीएड करने में कितना समय लगता है या बीएड करने में कितने वर्ष लगते हैं | बीएड की फीस कितनी होती है | बीएड कौन कौन से वर्ग में किया जा जा सकता है

बीएड के लिये योग्यता

बीएड में प्रवेश के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता कोर्स बैचलर ऑफ आर्ट्स (बीए), बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी) या बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम) व अन्य स्नातक, जो कम से कम 50% अंकों के साथ एक मान्यता प्राप्त बोर्ड / विश्वविद्यालय से किया हो। बीएड करने के लिए आपके पास बीएससी , BA या BCA जैसे कोई भी स्नातक की डिग्री होनी चाहिए

बीएड करने में फीस कितनी लगती है

यह विश्वविद्यालय या संसथान के ऊपर निर्भर करता है | तब भी लगभग 50000-100000 तक का खर्च आ सकता है प्रति वर्ष | बहुत सारे बैंक बीएड करने के लिए एजुकेशन लोड भी प्रदान करते हैं

 क्यों है बीएड ज़रूरी

टीचिंग में कॅरियर बनाने के लिए आप दो साल का बीएड कोर्स कर सकते हैं। टीचर बनने के लिए बीएड कोर्स एक पॉपुलर एवं बेस्ट कोर्स है। यह अंडरग्रेजुएट कोर्स उन इच्छुक उम्मीदवारों के लिए हैं, जो अपना कॅरियर टीचिंग क्षेत्र में बनाना चाहते हैं। बीएड कोर्स आप सरकारी कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज या डिस्टेंस एजुकेशन यानि ओपन कॉलेज से भी पूरा कर सकते हैं।

बीएड का फॉर्म उत्तर प्रदेश में कब आता है

बीएड प्रवेश परीक्षा में दो पेपर होते हैं। एक पेपर में दो अलग-अलग पार्ट होते हैं। पहला पार्ट थ्योरी और दूसरा पार्ट प्रैक्टिकल होता है। उत्तर प्रदेश में बीएड में एडमिशन के लिए हर साल परीक्षा का आयोजन होता है | इस परीक्षा का उत्तरदायित्व  किसी न किसी विश्व विद्यालय के पास रहती है | आमतौर पर हर साल बीएड का पेपर अप्रैल में आयोजित किया जाता है, जिसमें बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, योग्यता, अंकगणित शिक्षण क्षमता और राज्य भाषा से पूछे जाते हैं। आर्ट्स स्ट्रीम के उम्मीदवारों को इतिहास, नागरिक शास्त्र, भूगोल और भाषा को पढ़ाने की ट्रेनिंग दी जाती है। साइंस स्टूडेंट्स को गणित, रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीवविज्ञान विषयों के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।

यूपी बीएड पेपर-1 पैटर्न –

पार्टविषयप्रश्नों की संख्याअंककुल समय
सामान्य ज्ञान50100

3 घंटे

बीहिंदी या अंग्रेजी50100
  • पेपर- 1 में ए पार्ट अनिवार्य होता है।
  • पेपर- 1 का बी पार्ट हिंदी या अंग्रेजी भाषा में से किसी एक को चुन कर करना होता है।
  • यह परीक्षा कुल 200 अंक की होती है।

यूपी बीएड पेपर-2 पैटर्न –

पार्टविषयप्रश्नों की संख्याअंककुल समय
सामान्य योग्यता परीक्षण50100

3 घंटे

बीविषय क्षमता (आर्ट, विज्ञान, कॉमर्स, कृषि)50100
  • पेपर- 2 का पार्ट ए सभी कैंडिडेट्स के लिए करना अनिवार्य होता है और पार्ट 2 में किसी एक स्ट्रीम विषय को चुनना होता है।
  • यह परीक्षा कुल 200 अंक की होती है।

(पाठ्यक्रम बदलते रहते हैं )

परीक्षा में प्राप्त रैंक के अनुसार आप काउंसलिंग में विश्वविद्यालय या उसके अंतर्गत किसी महाविद्यालय का चयन करते हैं जहाँ से आप अपना बीएड पूरा करेंगे | आज के समय में बीएड में सेमेस्टर व्यव्य्स्था लागू है | बीएड में अध्ययन के दौरान माइक्रो टीचिंग और तमाम शैक्षणिक गतिविधियाँ आपको सीखने को मिलती है |

दोस्तों ये थी जानकारी | अगर आपको कोई अतिरिक्त जानकारी चाहिए तो कमेंट के माध्यम से आप प्राप्त कर सकते हैं

UP LT Grade Teacher Syllabus 2018 -UP LT Grade Teacher 2018 सिलेबस

LEAVE A REPLY